इंग्लैंड को हराने के बाद बड़ी मुसीबत में है ये अहम भारतीय खिलाड़ी, अब रोहित भी नहीं बचा सकते!

इंग्लैंड को हराने के बाद बड़ी मुसीबत में है ये अहम भारतीय खिलाड़ी, अब रोहित भी नहीं बचा सकते!

अब अय्यर को कैसे खिलाएंगे रोहित शर्मा ? (PC-PTI)

टीम इंडिया ने विश्व कप 2023 में अपना छठा लीग मैच भी जीता। टीम अब अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंच गई है। भारतीय टीम ने रविवार को मौजूदा चैंपियन इंग्लैंड को भी हरा दिया, हालांकि इस मैच में भारतीय टीम के एक
खिलाड़ी बड़ी मुसीबत में हैं.

टीम इंडिया पर 2023 वर्ल्ड कप जीतने का जुनून सवार है. ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश पर जीत के बाद अब भारतीय टीम ने मौजूदा चैंपियन इंग्लैंड को एकतरफा अंदाज में हरा दिया। रविवार को लखनऊ में खेले गए मैच में भारतीय टीम ने सिर्फ 229 रन बनाए लेकिन फिर भी भारतीय टीम 100 रनों के अंतर से जीत गई. इंग्लैंड टीम केवल 129 रनों पर ढेर हो गई। लेकिन इस जीत के बीच भारतीय टीम के खिलाड़ियों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा. समस्या इतनी बड़ी है कि अब उनका शुरुआती प्लेइंग इलेवन में बने रहना मुश्किल लग रहा है.

ये खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि श्रेयस अय्यर हैं. इस विश्व कप में उनका प्रदर्शन बेहद औसत रहा. इंग्लैंड के खिलाफ मैच में अय्यर ने खराब प्रदर्शन की हद पार कर दी. लखनऊ की पिच पर अय्यर 16 गेंदों में संघर्ष करते हुए सिर्फ चार रन ही बना सके. अय्यर ने इस टूर्नामेंट में अब तक 6 मैचों में 134 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट भी 84 है. हालांकि, यहां समस्या उनके नंबरों की नहीं, बल्कि अय्यर के मैदान पर खेलने के तरीके की है, जो चिंता का कारण है.

अय्यर को शॉर्ट गेंदों से परेशानी

श्रेयस अय्यर ने इंग्लैंड के खिलाफ भी शॉर्ट गेंदें खेलीं. यह एक ऐसी गेंद है जिसके सामने अय्यर को काफी संघर्ष करना पड़ता है और इस विश्व कप में भी यही देखने को मिला है. श्रेयस न्यूजीलैंड के खिलाफ शॉर्ट गेंद पर बोल्ड आउट हो गए थे. अगर कोई बल्लेबाज एक ही गेंद पर एक ही तरह से मूव करता है तो विरोधी इसका फायदा उठाते हैं और यह टीम के लिए चिंता का कारण होता है। हालांकि, टीम इंडिया के पास अय्यर का विकल्प मौजूद है. अगर अय्यर को बाहर बैठना पड़ा तो इशान किशन उनकी भूमिका निभा सकते हैं.

इशान किशन मध्यक्रम में खेलेंगे

इशान किशन ने मिडफील्ड में अपना हुनर ​​दिखाया. इस खिलाड़ी ने एशिया कप में सेंटर हाफ के तौर पर भी अपना दमखम दिखाया था. दूसरी अहम बात ये है कि ईशान बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, जिसका फायदा भारतीय टीम को भी मिलेगा. इसके अलावा, यह खिलाड़ी शॉर्ट गेंदों को अच्छी तरह से संभालता है और स्पिन गति को लेकर भी उसे कोई समस्या नहीं होती है। जाहिर तौर पर यह कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी अगर भारतीय टीम आगामी मैचों में इशान किशन को मध्य क्रम में खिलाए। श्रेयस अय्यर पर कब तक भरोसा कर सकते हैं रोहित शर्मा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *