दौसा में मुठभेड़ के दौरान घायल Constable Prahlad Singh की मौत, CM गहलोत ने की 1 करोड़ मुआवजे की घोषणा!

Constable Prahlad Singh injured during encounter in Dausa dies

पुलिस हमेशा अपनी जान की बाजी लगाकर भी सदा जनता की रक्षा को तत्पर रहती है. हाल ही में राजस्थान के दौसा जिले से ऐसा ही एक मामला सामने आया है. दरअसल गुरूवार के दिन राजस्थान के जाबाज पुलिस कांस्टेबल प्रहलाद सिंह राजपूत की मौत हो गई है. बुधवार को हुई मुठभेड़ में उन्होंने बदमाशों से डटकर मुकाबला किया लेकिन बदले में फायरिंग के दौरान वह जख्मी हो गए, जिसके बाद उन्हें तुरंत दौसा के एक अस्पताल में भर्ती करवाया। लेकिन बाद में उन्हें जयपुर के SMS हॉस्पिटल में रेफर किया गया।

रेफर किए जाने के बाद गुरुवार के दिन इलाज के दौरान ही कांस्टेबल प्रहलाद सिंह की मौत हो गई. उनकी मौत की पुष्टि स्वयं दौसा जिले की SP वंदिता राणा के द्वारा की गयी है. आपको बता दे, कांस्टेबल प्रहलाद सिंह जिला स्पेशल टीम के सदर थाने में कार्यरत थे. उन्होंने इस टीम में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए बहुत से खतरनाक ऑपरेशन को अंजाम दिया था।

कौन थे सिपाही प्रहलाद सिंह?

राजस्‍थान पुलिस में कार्यरत कांस्टेबल प्रह्लाद सिंह मूलतः नीमकाथाना जिले के एक गाँव चिपलाटा के निवासी थे. उनका जन्म साल 1989 में 10 जुलाई के दिन हुआ था. प्रहलाद बचपन के दिनों से ही बहुत ही हिम्मत और साहसी थे, इसके साथ ही उनका पढ़ने-लिखने ने भी काफी रुझान था. उन्होंने 2018 में राजस्थान पुलिस में ड्यूटी ज्वाइन की थी. जिसके बाद उन्हें 2021 से दौसा पुलिस में जिला विशेष टीम में तैनात कर दिया गया था।

CM ने की ₹1 करोड़ मुआवजे की घोषणा

सिपाही प्रहलाद सिंह की मौत पर राजस्थान के CM अशोक गहलोत ने शोक जाहिर किया है. इसके साथ ही उन्होंने जांबाज सिपाही के परिवार जनों को 1 करोड़ का मुआवजा देने की घोषणा की है. मुआवजे के अलावा उन्होंने परिवार के एक आश्रित व्यक्ति को अनुकंपा नौकरी देने का भी वादा किया है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत ने भी आश्वासन दिया है की इस पुरे मामले की सुनवाई फास्ट ट्रेक कोर्ट में की जाए ताकि आरोपियों को जल्द से जल्द सजा दिलाई जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *