अगर आप का शरीर हमेशा गर्म रहता है, तो आइए जानें समस्या की असली और गंभीर वजह।

अगर आप का शरीर हमेशा गर्म रहता है, तो आइए जानें समस्या की असली और गंभीर वजह।

क्या आपके शरीर का तापमान वर्ष के किसी भी समय और किसी भी स्थिति में गर्म रहता है? यदि आप इसे सामान्य मानते हैं, तो हो सकता है कि आप एक बड़ी समस्या को नज़रअंदाज़ कर रहे हों।

Causes Of High Body Temperature: आपके आस-पास ऐसे लोग होंगे जिनकी हथेलियाँ ठंड के दिनों में छूने पर गर्म महसूस होती हैं। या फिर आप खुद उन लोगों में से एक हैं जिनके शरीर का तापमान सामान्य से ज्यादा बना रहता है। इसे सामान्य समझकर नजरअंदाज करने की गलती न करें। यह आपकी जीवनशैली, आहार संबंधी गलती, स्वास्थ्य स्थिति, मसालेदार भोजन का अत्यधिक सेवन या किसी अन्य कारण से हो सकता है। इसके अलावा, ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से शरीर का तापमान सामान्य से अधिक रह सकता है।

मौसम की स्थिति के कारण

यदि आपको गर्मियों में धूप में या गर्म वातावरण में लंबा समय बिताना पड़ता है, तो आपका शरीर ज़्यादा गरम हो सकता है। इस स्थिति को हाइपोथर्मिया भी कहा जाता है, लेकिन यह बुखार नहीं है।

हाइपोथायरायडिज्म

जिन लोगों का थायरॉयड स्तर ऊंचा होता है, उन्हें यह भी लग सकता है कि उनका शरीर थोड़ा गर्म रहता है। अगर आपको भी पसीना, दस्त और घबराहट महसूस होती है तो आपको इसे गंभीरता से लेना चाहिए और डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। शरीर में T3 और T4 की वृद्धि से तापमान में वृद्धि हो सकती है।

बच्चों और बुजुर्गों की समस्या

छोटे बच्चे और बड़े लोग भी इस रोग से पीड़ित हो सकते हैं। बच्चे अक्सर स्कूल में धूप में खेलते हैं या बिना एयर कंडीशनिंग वाले कमरों में बैठते हैं। इसी तरह, वृद्ध लोगों की इम्यूनिटी कमजोर होती है, जिससे उनके शरीर का तापमान बढ़ या गिर सकता है।

संक्रमण का संकेत हो सकता है

अगर आपका तापमान अचानक बढ़ जाए तो यह भी संक्रमण का संकेत हो सकता है। यदि आपको छाती या पेट में संक्रमण है, तो आपको अक्सर हल्का बुखार होता, जो संक्रमण का संकेत है।

ज्यादा वर्कआउट

यदि आप अत्यधिक व्यायाम करते हैं, तो उसके बाद कुछ समय तक आपका तापमान उच्च बना रह सकता है। यदि व्यायाम के बाद ऐसा बार-बार होता है, तो ध्यान रखें कि आप अपने शरीर की क्षमता से अधिक व्यायाम कर रहे हैं। वर्कआउट कम की जरूरत है.

शरीर का तापमान बढ़ना

अगर किसी अंग का तापमान बढ़ जाए तो यह उस अंग में संक्रमण का संकेत है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *