जयपुर: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का आज होगा अंतिम संस्कार, समर्थकों ने रोका आंदोलन

जयपुर: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का आज होगा अंतिम संस्कार, समर्थकों ने रोका आंदोलन

सुखदेव सिंह गोगामड़ी की हत्या के बाद जयपुर मेट्रो हॉस्पिटल के बाहर करणी सेना संघर्ष समिति का चल रहा विरोध प्रदर्शन फिलहाल स्थगित कर दिया गया है. दरअसल, करणी सेना संघर्ष समिति के कुछ प्रमुख सदस्यों ने बुधवार शाम राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात की. राज्यपाल ने करणी सेना संघर्ष समिति से उनकी सभी मांगें पूरी करने को कहा जिसके बाद विरोध प्रदर्शन खत्म करने की घोषणा की गई.

जयपुर में मेट्रो अस्पताल के सामने धरने पर बैठी करणी सेना संघर्ष समिति की बैठक में आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की गई. करणी सेना संघर्ष समिति ने बैठक में घोषणा की कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में हमारी लगभग सभी मांगें मान ली गई हैं. राज्यपाल ने सरकार बनने के 15 दिनों के भीतर एनआईए जांच, परिवार की सुरक्षा, बंदूक लाइसेंस, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली समिति से जांच, दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई और परिवार को वित्तीय सहायता की मंजूरी देने का आश्वासन दिया। करणी सेना संघर्ष समिति ने कहा कि उनका अंतिम संस्कार 7 दिसंबर को सुखदेव सिंह गोगामेड़ी गांव में किया जाएगा।

हम आपको बता दें कि मंगलवार को राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामड़ी की जयपुर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. सुखदेव सिंह, जो गोगामड़ी के परिचित नवीन शेखावत के साथ मिलने आए थे, ने कहा कि लॉरेंस बिश्नावी के गिरोह के दो बंदूकधारियों ने गोगामडी पर 17 गोलियां चलाईं, जिससे उनकी और नवीन शेखावत की मौके पर ही मौत हो गई, जो गोलीबारी में मारे गए और दो अन्य घायल हो गए। उनका इलाज जयपुर मेट्रो हॉस्पिटल में चल रहा है. इनमें से केवल एक व्यक्ति की हालत गंभीर बनी हुई है.

आज जयपुर बंद का किया था ऐलान

राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद उनके समर्थक राजस्थान की सड़कों पर उतर आए. राजपूत करणी सेना और करणी सेना संघर्ष समिति समेत कई संगठनों ने बसों में तोड़फोड़, आग लगाना आदि शुरू कर दिया. मंगलवार को। इसको लेकर जयपुर बंद का भी ऐलान किया गया था. जब पुलिस ने यह देखा तो उन्होंने भी संज्ञान लिया. बुधवार को पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेड्स लगाकर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के समर्थकों को रोकने की कोशिश की, लेकिन समर्थकों ने हंगामा कर दिया.

इस बीच, करणी सेना संघर्ष समिति ने मेट्रो अस्पताल के बाहर हड़ताल बुलाई है. दरअसल, सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को घायल होने के बाद इसी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जैसे ही यह खबर धीरे-धीरे फैली तो लोग मेट्रो हॉस्पिटल के सामने जमा हो गए। करणी सेना संघर्ष समिति के नेतृत्व में मेट्रो अस्पताल में विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ। जयपुर पुलिस विभाग के अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को समझाने की कई बार कोशिश की, लेकिन लोग नहीं माने.

राज्यपाल से मुलाकात के बाद ये विरोध प्रदर्शन ख़त्म हुआ.

इसके बाद करणी सेना संघर्ष समिति के कुछ प्रमुख सदस्यों को बुधवार शाम राज्यपाल के सामने पेश किया गया। राज्यपाल ने सरकार बनने के 15 दिन के भीतर एनआईए से जांच, परिवार की सुरक्षा, बंदूक लाइसेंस, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज की अध्यक्षता वाली कमेटी से जांच, दोषी अधिकारियों पर मुकदमा और परिवार को आर्थिक सहायता देने का आश्वासन दिया और फिर इसके बदले यह धरना मिला. – प्रदर्शन खत्म होने की घोषणा कर दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *