अनंतनाग की गुफाओं में छिपे आतंकियों पर ड्रोन से बम गिराए गए. भारतीय सेना शहादत का लेगी बदला..

अनंतनाग में शहीद हुए देश के वीर सपूतों को मारने वाले आतंकियों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है.

Image Source : PTI

अनंतनाग की गुफाओं में छिपे आतंकियों पर ड्रोन से बम गिराए गए. भारतीय सेना शहादत का लेगी बदला..

अनंतनाग में शहीद हुए देश के वीर सपूतों को मारने वाले आतंकियों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. आतंकियों पर आखिरी हमले और उनके खात्मे की तैयारी चल रही है. कोकारंग जंगल में चल रहे सैन्य ऑपरेशन का एक वीडियो भी जारी किया गया.

देश के दुश्मनों के खिलाफ ताजा हमला अनंतनाग और जम्मू-कश्मीर में जारी है. अनंतनाग के कोकरनाग पर्वत की गुफाओं में छिपे आतंकवादियों पर बमबारी करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया था। जिन ठिकानों पर आतंकी छुपे हुए हैं उन्हें उड़ा दिया गया है. किसी भी वक्त खबर आ सकती है कि सेना ने तीन अफसरों और एक जवान की शहादत का बदला ले लिया है. इधर, लश्कर कमांडर उजैर अहमद खान और उसके साथी पहाड़ पर गुफाओं में छिपे हुए हैं। ये ऑपरेशन करीब 60 घंटे तक चला.

आतंकियों को घेरा गया है, सर्च ऑपरेशन तेज किया गया है

इस पूरे ऑपरेशन में ड्रोन भी सेना की मदद कर रहे हैं. इस ऑपरेशन में कल से ही हथियारों से लैस हेरोन ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है.  साथ ही सेना ने आतंकियों के ठिकानों पर  गोले दागे और साथ ही वहां ड्रोन भी उड़ाए और आतंकियों के ठिकानों की जानकारी सेना को दी.

देखें वीडियो-

शहीदों को अंतिम विदाई

आपको बता दें कि बुधवार को हुई मुठभेड़ में सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के कुल तीन जवान शहीद हो गए थे. शहीदों में 19 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडर कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष धोनक और डीएसपी हुमायूं भट्ट शामिल हैं। एक तरफ अनंतनाग में आतंकियों पर आखिरी हमला किया जा रहा है, उनके खात्मे की तैयारी की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ अनंतनाग में शहीद हुए देश के वीर सपूतों की याद में अंतिम संस्कार किया गया. . कुछ देर पहले ही मेजर आशीष का अंतिम संस्कार पानीपत में हुआ। मोहाली में कर्नल मनप्रीत सिंह के अंतिम संस्कार की तैयारियां चल रही हैं. कर्नल मनप्रीत सिंह के अवशेष उनके पैतृक गांव मोहाली पहुंच गए हैं और कुछ देर बाद उनका अंतिम संस्कार होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *