Gramin Bharat Bandh :16 फरवरी को ‘ग्रामीण भारत बंद’ की घोषणा, जानिए किन गतिविधियों पर पड़ेगा सबसे ज्यादा प्रभाव?

Announcement of 'Gramin Bharat Bandh ' on 16th February

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने केंद्रीय यूनियनों के साथ मिलकर आगामी ग्रामीण भारत बंद (Gramin Bharat Bandh) के लिए निर्देश जारी किए हैं, जो 16 फरवरी (Gramin Bharat Bandh Date) को होने वाला है। यह बंद सुबह 6:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक जारी रहेगा।

इसके साथ ही दोपहर 12:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक किसान देशभर की प्रमुख सड़कों पर बड़े पैमाने पर चक्का जाम में हिस्सा लेंगे। आपको बता दें की पंजाब में विरोध प्रदर्शन के दौरान अधिकांश राज्य और संघीय राजमार्ग चार घंटे के लिए बंद रहेंगे।

शनिवार को लुधियाना में हुई बैठक के दौरान बीकेयू महासचिव हरिंदर सिंह लाखोवाल ने ग्रामीण भारत बंद की रणनीति का खुलासा किया। जिसके चलते ज्यादातर पंजाब के किसानों ने, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अपने समकक्षों के साथ 13 फरवरी को ‘चलो दिल्ली’ (Challo Delhi) मार्च शुरू किया।

Gramin Bharat Bandh: कब बनाई गई ‘ग्रामीण भारत बंद’ कि योजना?

इस विषय पर बात करते हुए, SKM राष्ट्रीय समन्वय समिति (NCC) के सदस्य डॉ दर्शन पाल ने कहा, “दिसंबर के लिए ‘ग्रामीण भारत बंद’ की योजना बनाई गई थी। इस दिन, गाँव सभी कृषि गतिविधियों, मनरेगा समेत अन्य गतिविधियों के लिए भी बंद रहेंगे।

इस दिन कोई भी किसान, खेत मजदूर या खेतिहर मजदूर काम नहीं करेगा। वही एम्बुलेंस, मृत्यु, विवाह, चिकित्सा दुकानें, समाचार पत्र आपूर्ति, परीक्षा देने जा रहे छात्रों और हवाई अड्डे के यात्रियों जैसी आपातकालीन सेवाएं सुचारु रहेगी।

किन गतिविधियों पर पड़ेगा असर?

SKM के अध्यक्ष ने आगे जानकारी देते हुए कहा, “सब्जियों और अन्य उत्पादों की खरीद और बिक्री भी बंद कर दी जाएगी।” गाँव की दुकानें, अनाज विक्रेता, सब्जी विक्रेता, सरकारी और गैर-सरकारी संस्थान, स्थानीय औद्योगिक और सेवा प्रतिष्ठान और यहाँ तक कि निजी कंपनियों को भी बंद करने का आदेश दिया गया।

इसके साथ ही, हड़ताल के दौरान गांव की सीमा से लगे कस्बों में भी दुकानें बंद रहेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *