Mokshada Ekadashi 2023: कब रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी व्रत? जानिए पूजा विधि, शुभ समय और व्रत पारण का सही समय

Mokshada Ekadashi 2023: कब रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी व्रत ?

मोक्षदा एकादशी मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष के 11वें दिन (एकादशी) को मनाई जाती है। जो भक्त मोक्षदा एकादशी का व्रत रखते हैं, उन्हें मोक्ष की प्राप्ति होती है और वे मृत्यु और जन्म के निरंतर चक्र से मुक्त हो जाते हैं।

यह व्रत भारत के अधिकांश भागों में मनाया जाता है। इसे “मौना एकादशी” के रूप में भी जाना जाता है और भक्त पूरे दिन “मौन” भी धारण करते है। उड़ीसा और दक्षिण भारत में इस व्रत को बैकुंठ एकादशी के नाम से जाना जाता है। आइए जानते हैं इस साल मोक्षदा एकादशी व्रत (mokshada ekadashi 2023) कब रखा जाएगा और इस दिन का धार्मिक महत्व क्या है।

Mokshada Ekadashi 2023 Date | मोक्षदा एकादशी 2023 तिथि

हिंदू कैलेंडर के अनुसार, मोक्षदा-एकादशी व्रत 22 और 23 दिसंबर, 2023 को दो दिनों के लिए मनाया जाएगा। परिवार के सदस्य 22 दिसंबर को उपवास करते हैं और वैष्णव 23 दिसंबर को उपवास करते हैं।

मान्यता है कि इस दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा करने से संतान की प्राप्ति होती है। साथ ही साथ जीवन में आने वाली सभी प्रकार की परेशानियों का अंत हो जाएगा। इस दिन पितृ मोक्ष के लिए भी व्रत रखते हैं।

Mokshada Ekadashi 2023 Shubh Muhurat | मोक्षदा एकादशी 2023 शुभ मुहूर्त

एकादशी तिथि प्रारम्भ समय – 22 दिसम्बर , 2023, सुबह 07:35 बजे से

एकादशी तिथि समापन समय – 23 दिसम्बर, 2023, सुबह 07:56 बजे तक

एकादशी की पारण तिथि – 23 दिसंबर 2023, सुबह 07:11 बजे से 09:15 बजे तक

Significance of Mokshada Ekadashi | मोक्षदा एकादशी 2023 का महत्व

  • हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, मोक्षदा एकादशी का पालन करने से भक्तों को शीघ्र ही पितृ दोष से छुटकारा मिलता है और अंततः मोक्ष या मुक्ति प्राप्त होती है।
  • कुछ स्थानों पर इस दिन को गीता जयंती भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन भगवान कृष्ण ने कुरुक्षेत्र के महाकाव्य युद्ध के दौरान अर्जुन को भगवद गीता सुनाई थी। इसलिए, वैष्णव या भगवान विष्णु के भक्त मोक्षदा एकादशी को बहुत शुभ मानते है।
  • विष्णु पुराण के अनुसार, मोक्षदा एकादशी व्रत का लाभ पूरे वर्ष की अन्य 23 एकादशियों के दिनों के बराबर होता है और मोक्षदा एकादशी व्रत का महत्व महत्वपूर्ण है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *