Mahashivratri 2024: कब है महाशिवरात्रि 2024? जानें तिथि, चार पहर पूजन मुहूर्त व इस पर्व से अन्य महत्वपूर्ण तथ्य!

Mahashivratri 2024: कब है महाशिवरात्रि 2024?

फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी के दिन महाशिवरात्रि मनाई जाती है। यह त्योहार भगवान शिव के भक्तों के लिए बहुत महत्व रखता है और हर साल वे महा शिवरात्रि के आगमन का बेसब्री से इंतजार करते हैं। यह दिन शिव और शक्ति के मिलन का प्रतीक है।

महाशिवरात्रि के दिन विधिपूर्वक पूजा करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। यह भी कहा जाता है कि इस महापर्व पर भोलेबाबा, धरती पर मौजूद सभी शिवलिंगों में निवास करते है। इसलिए इस दिन शिव की पूजा करने से कई गुना बेहतर फल मिलता है। इस दौरान सभी धार्मिक नियमों का पालन करना चाहिए। हालाँकि, जानकारी की कमी के कारण, कुछ लोग गलती से भगवान को गलत फल अर्पित कर देते है, जो अनुचित है।।

आइए जानते है, महाशिवरात्रि 2024 के दिन भोले बाबा को कौन से फल नहीं चढ़ाने चाहिए। साथ ही, इस वर्ष 2024 की महाशिवरात्रि का व्रत कब रखा जाएगा और इस दिन भगवान शिव की पूजा करने का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त क्या है।

Maha Shivaratri 2024 Date : कब रखा जाएगा महाशिवरात्रि 2024 व्रत?

इस साल 8 मार्च, 2024 ( when is Maha Shivaratri 2024) को महा शिवरात्रि मनाई जाएगी। इस दिन, भक्त सुबह से शाम तक शिव की पूजा करते है। इस दिन विशेष रूप से चार पहर की पूजा का विधान माना जाता है।

दक्षिण भारतीय कैलेंडर के अनुसार, माघ माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन महा शिवरात्रि मनाई जाती है। वही उत्तर भारतीय कैलेंडर में फाल्गुन माह में पड़ने वाली मासिक शिवरात्रि को महा शिवरात्रि के रूप में मनाया जाता है।

Maha Shivratri 2024 Muhurat : ​महा शिवरात्रि 2024 मुहूर्त

महा शिवरात्रि 2024 का समय व पूजन करने के लिए सर्वश्रेष्ट्र पूजन का मुहूर्त इस प्रकार से है-

दैनिक पंचांग के अनुसार, फाल्गुन माह की चतुर्थी 8 मार्च 2024 को रात्रि 9:57 बजे प्रारंभ होकर, 9 मार्च 2024 को सायं 6:17 बजे समाप्त होगी। महा शिवरात्रि पूजा 2024 का समय और सर्वश्रेष्ठ पूजन मुहूर्त (Maha Shivratri 2024 Puja Muhurat) इस प्रकार है:

निशिता काल मुहूर्त –

मध्यरात्रि: 12:07 AM से 12:55 AM (9 मार्च, 2024)

व्रत पारण का समय –

सुबह: 06:37 बजे से दोपहर: 03:28 बजे तक (9 मार्च, 2024)

महाशिवरात्रि 2024 चार प्रहर पूजा का समय

प्रथम प्रहर पूजा का समय

शाम: 06:25 बजे से रात्रि: 09:28 बजे तक

द्वितीय प्रहर पूजा का समय –

रात: 09:28 बजे से सुबह: 12:31 बजे तक (9 मार्च)

तृतीय प्रहर पूजा का समय –

प्रातःकाल: 12:31 AM से 03:34 AM तक(9 मार्च)

चतुर्थ प्रहर पूजा का समय –

प्रातः काल: 03:34 AM बजे से 06:37 AM बजे तक(9 मार्च)

महाशिवरात्रि पर कौनसे पुष्प न चढ़ाएं

महाशिवरात्रि या भगवान शिव की पूजा के समय निम्नलिखित पुष्प कभी भी अर्पित नहीं करने चाहिए। धर्मग्रंथों में इन फूलों को चढ़ाना वर्जित माना गया है।

  • चंपा
  • केतकी
  • लाल फूल
  • केवड़े के फूल

इससे साथ ही भगवान शिव की पूजा में भूलकर भी सिन्दूर अर्पित नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *