मुख्य आरती गोवर्धन पूजा के दौरान गाई जाती है, जो दिवाली के तुरंत बाद आरती है। श्री गोवर्धन महाराज, ओ महाराज, तेरे माथे मुकुट विराज रहेओ। श्री गोवर्धन महाराज, ओ महाराज, […]