India Vs Bharat Controversy को अनुराग ठाकुर ने ठहराया अफवाह, वही कांग्रेस मंत्री ने कह दी ये बड़ी बात, जानें क्या है पूरा मामला!

India Vs Bharat Controversy को अनुराग ठाकुर ने ठहराया अफवाह, वही कांग्रेस मंत्री ने कह दी ये बड़ी बात

पिछले कुछ समय से आ रही ख़बरों के अनुसार, नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार 18-22 सितंबर को संसद के एक विशेष सत्र के दौरान India का आधिकारिक नाम बदलकर भारत करने के लिए एक प्रस्ताव पेश कर सकती है। जहां एक ओर कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने भी इस बात की पुष्टि की है। तो, वही दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बात को खारिज करते हुए अफवाह करार किया है। आइये जानते है क्या है ये पूरी खबर-

कांग्रेस नेता ने शेयर किया Tweet

कांग्रेस नेता जयराम ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट का प्रयोग कर इस मामले पर अपनी राय रखी है। उन्होंने लिखा- तो ये खबर वाकई सच है। राष्ट्रपति भवन ने 9 सितंबर को G-20 रात्रिभोज के लिए सामान्य ‘ President of India ‘ के बजाय ‘President of Bharat’ के नाम पर निमंत्रण भेजा है। अब, संविधान में अनुच्छेद 1 इस प्रकार पढ़ा जा सकता है: “भारत, जो इंडिया था, राज्यों का एक संघ होगा।

लेकिन अब इस “राज्यों के संघ” पर भी हमला हो रहा है।”

अनुराग ठाकुर ने इसे ठहराया अफवाह

पिछले कुछ समय से ऐसी अटकलें हैं कि केंद्र सरकार देश का नाम इंडिया से बदलकर “भारत” करने की योजना बना रही है। लेकिन इन सभी बातों को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने स्पष्ट रूप से ख़ारिज कर दिया है। उन्होने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के साथ बात करते हुए कहा कि ये सिर्फ अफवाहें थीं। इस बातचीत के दौरान ठाकुर कहते है- “मुझे लगता है कि ये सिर्फ अफवाहें हैं जो चल रही है। मैं बस इतना कहना चाहता हूं कि जो कोई भी भारत शब्द पर आपत्ति जताता है, वह स्पष्ट रूप से उनकी मानसिकता दिखाता है “।

G-20 डिनर इनविटेशन के बारे में अनुराग ठाकुर ने कहा, “वे भारत के राष्ट्रपति है,इसलिए उन्होंने ऐसा लिख दिया तो क्या हुआ? इसमें कोई बड़ी बात नहीं। इससे पहले भी आपने भारत सरकार के नाम से कई आमंत्रण भेजे हुए देखे होंगे। समस्या कहाँ है?”

“मैं भारत सरकार का मंत्री हूं, कई समाचार चैनलों के नाम में भी भारत है। भारत पर किसी को आपत्ति क्यों होनी चाहिए, ये कौन लोग हैं जिन्हें भारत नाम से एलर्जी है। यह कहते हुए अनुराग ठाकुर ने विपक्ष पर पलटवार किया।

जहां एक ओर भारत के नाम में बदलाव किये जाने की बात लगातार सामने आ रही है, तो वही विपक्ष के नेता इस मुद्दे पर एक दूसरे निशाना साध रहे है। ऐसे में इस बात का खुलासा तो संसद सत्र के बाद ही तय किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *