पति की ऑनलाइन सट्टेबाजी से परेशान पत्नी ने उठाया भयानक कदम, जानें क्या है पूरा मामला!

Troubled by husband's online betting, wife took terrible step

हाल ही में कर्नाटक से बड़ी खबर आई है। एक दुखद घटना में, कर्नाटक का एक व्यक्ति ऑनलाइन क्रिकेट सट्टेबाजी के माध्यम से जल्दी पैसा कमाने के प्रलोभन के कारण भारी कर्ज में डूब गया, जिसके कारण अंततः उसकी पत्नी की असामयिक मृत्यु हो गई।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, चित्रदुर्ग के होसदुर्गा में राज्य लघु सिंचाई विभाग के सहायक अधिकारी दर्शन बाबू कथित तौर पर ऑनलाइन सट्टेबाजी में 1 करोड़ रुपये से अधिक हार गए, जिसके कारण उन्हें साहूकारों से लगातार उत्पीड़न का सामना करना पड़ा। इस कारण दूसरों की धमकियों से तंग आकर उनकी पत्नी ने आत्महत्या कर ली।

पुलिस ने मामले की पूरी जानकारी

पुलिस के मुताबिक, रंजीता और दर्शन बाबू की शादी 2020 में हुई और उसके पति को 2021 में उसके जुए की लत के बारे में पता चला।

“रंजीता वेंकटेश के पिता की शिकायत के अनुसार, ररंजीता ने अपने पति दर्शन को ऋण देने वाले लोगों के उत्पीड़न के कारण आत्महत्या कर ली। दर्शन जब लोगों से पैसे वसूलता था तो सिक्योरिटी के तौर पर खाली चेक दिया करता देता था ।” चित्रदुर्ग के पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र कुमार मीना ने कहा।

पुलिस अधीक्षक ने आगे कहा – “लोगों ने जोड़े को धमकाया, घर के पास पहुंचे और उनके साथ लड़ाई की। इस सब से रंजीता का तनाव स्तर बढ़ गया और उसने आत्महत्या कर ली। जिसके बाद, उनके पिता की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया था।

रंजीता ने मरने से पहले लिखा सुसाइड नोट

पुलिस ने खुलासा किया कि रंजीता ने एक सुसाइड नोट छोड़ा था जिसमें साहूकारों द्वारा उत्पीड़न से जुड़ी तमाम जानकारी सामने आई।

इस शिकायत के बाद, पुलिस ने आत्महत्या के प्रयास के आरोपी 13 प्रतिवादियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया। जिसके चलते अब तक शिव, गिरीश और वेंकटेश नाम के तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

जांच में पता चला कि दर्शन बल ने 2021-2023 आईपीएल सीज़न के दौरान साहूकारों से 84 मिलियन रुपये उधार लिए थे। न्यूज 18 रिपोर्ट के मुताबिक, मीना ने कहा, ”हमने 13 लोगों के खिलाफ मुकदमा दायर किया और उनमें से तीन को गिरफ्तार कर लिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *